little

Language:ENGLISH  हिन्दी

● HELP LINE-1098  ● HELP LINE-1098  ● HLEP LINE-1098  ● HELP LINE-1098  ● HELP LINE-1098  ● HELP LINE-1098
jjbकिशोर न्याय मण्डल

किशोर न्याय मण्डल.- (1) दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 (1974 का सं. 2) में कुछ भी समाविष्ट होने के बावजूद, राज्य सरकार इस अधिनियम के अन्तर्गत विघि के साथ विरोध में किशोरों के संबंध में उन मण्डलों पर अधिरपित या को प्रदान कर्त्तव्यों को पूर्ण करने और शक्तियों को प्रयुक्त करने के लिए एक या अधिक किशोर न्याय मण्डलों का [राज-पत्र में अधिसूचना द्वारा किशोर न्याय (बालकों की देखरेख और संरक्षण) संशोधन अधिनियम, 2006 के प्रारम्भ होने की तिथि से एक वर्ष की अवधि के भीतर, प्रत्येक जिले के लिए गठन करेगी।]

(2) मण्डल में माहानगरीय मजिस्ट्रेट या प्रथम श्रेणी का न्यायिक मजिस्ट्रेट, जो भी स्थिति हो, और दो सामाजिक कार्यकर्ता सम्मिलित होंगे, जिसमें से कम से कम एक महिला होगी, न्यायपीठ के पास दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 (1974 का सं. 2) या माहानगरीय मजिस्ट्रेट या प्रथम श्रेणी के न्यायिक मजिस्ट्रेट, जो भी स्थिति हो, को प्रदत शक्तियां होगी और मण्डल पर मजिस्ट्रेट प्रधान मजिस्ट्रेट के रूप में नामनिर्दिष्ट होगा।

(3) किसी भी मजिस्ट्रेट को मण्डल के सदस्य के रूप में तब तक नियुक्त नहीं किया जायेगा, जब तक कि उसे बालक मनोविज्ञान या बालक कल्याण में विशेष जानकारी या प्रशिक्षण न हो और किसी भी सामाजिक कार्यकर्ता को मण्डल के सदस्य के रूप में तब तक नियुक्त नहीं किया जायेगा, जब तक कि उसने कम से कम सात वर्षों के लिए बालक से संबंधित स्वास्थ्य, शिक्षा या कल्याण गतिविधियों में सक्रिय रुप से हिस्सा न लिया हो।

(4) मण्डल के सदस्यों के पद की अवधि और तरीका जिसमें वह सदस्य इस्तीफा दे सकता है, वह होगा, जैसा निर्धारित किया जाये।

(5) मण्डल के किसी सदस्य की नियुक्ति को राज्य सरकार द्वारा जांज करने के पश्चात् समाप्त की जा सकेगी, यदि-

   (i)उसे इस अधिनियम के अन्तर्गत निहित शक्ति के दुरूपयोग का दोषी पाया जाये,

   (ii)उसे नैतिक अधमता सहित अपराध के लिए दोषसिध्द किया जाये, और उस दोषसिध्दि को उल्टा नहीं किया गया हो या उसे उस अपराध के संबंध में पूर्णतया क्षमा नहीं प्रदान की गयी हो,

   (iii)वह किसी मान्य कारण के बिना लगातार तीन महीनों से मण्डल की कार्यवाहियों में उपस्थिति होने में असफल रहा है या वह वर्ष में बैठकों में तीन-चौथाई से भी कम में उपस्थित होने में असफल रहा है।

किशोर या बालक
“किशोर” या “बालक” से वह व्यक्ति अभिप्रेत है, जिसने अठारह वर्ष की आयु को पूर्ण नहीं किया हो;

विधि के विरोध में किशोर
“विधि के विरोध में किशोर” से वह किशोर अभिप्रेत है, जिस पर अपराध कारित करने का अभिकथन है और ऐसा अपराध कारित करने की तिथि पर अठारह वर्ष की आयु पूर्ण नहीं किया हो;

किशोर न्याय मण्डल की शक्तियाँ
(1) जहाँ एक मण्डल को किसी जिले [xxx] के लिए गठित किया गया हो, वहां ऐसे मण्डल के पास, तत्समय प्रवृत किसी अन्य विधि में कुछ भी समाविष्ट होने के बावजूद परन्तु इस अधिनियम में अन्यथा उपबंधित को छोड़ते हुए, विधि के साथ विरोध में संबंधित इस अधिनियम के अन्तर्गत सभी कार्यवाहियों के साथ अनन्यतम कार्य करने को सक्ति होगी।
(2) इस अधिनियम के व्दारा या के अन्तर्गत मण्डल को प्रदत्त की गई शक्तियों को उच्च न्यायालय और सत्र न्यायालय व्दारा भी प्रयुक्त किया जा सकेगा, जब अपील, पुनरीक्षण या अन्यथा में उनके समछ कार्यवाही आती है।

Name of the PersonDesignationOfficial AddressMobile NumberEmail Id
Miss Lucy TiggaPrincipal Magistrate Inside the observation home Chiru Road Chaibasa9835708247_____

“संप्रेक्षण गृह” से राज्य सरकार व्दारा या स्वैच्छिक संगठन व्दारा स्थापित गृह अभिप्रेत है और विधि के विरोध में किशोर के लिए संप्रेक्षण गृह के रुप में धारा 8 के अन्तर्गत उस राज्य सरकार व्दारा सत्यापित है;

संप्रेक्षण गृह. - (1) कोई भी राज्य सरकार प्रत्येक जिले या जिलों के समूह में स्वैच्छिक संगठनों के साथ स्वंय व्दारा या करार के अन्तर्गत संप्रेक्षण गृहों की स्थापना कर सकती है या रख सकती है, जो इस अधिनियम के अन्तर्गत उनसे संबंधित किसी जांच के लम्बन के दौरान विधि के साथ विरोद में किशोर के अस्थायी तौर पर रखने के लिए अपेछित हो।

(2) जहाँ राज्य सरकार की राय हो कि उप-धारा (1) के अन्तर्गत स्थापित या रखे गये गृह के अलावा कोई भी संस्था इस अधिनियम के अन्तर्गत उनसे संबंधित किसी जांच के लम्बन के दौरान विधि के साथ विरोध में किशोर को स्थायी तौर पर रखने के लिए ठीक है, तो यह इस अधिनियम के प्रयोजनों के लिए संप्रेक्षण गृह के रुप में उस संस्था को सत्यापित कर सकती है।

(3) राज्य सरकार इस अधिनियम के अन्तर्गत बनाये गये नियमों द्वारा, किशोर के पुनर्वास और सामाजिक एकीकरण के लिए उनके व्दारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं के लिए और विभिन्न प्रकारों सहित संप्रेक्षण गृहों के प्रबन्ध के लिए और परिस्थितियां जिनके अन्तर्गत और तरीका जिसमें, संप्रेक्षण गृह का सत्यापन किया जा सकेगा या वापिस किया जा सकेगा, की व्यवस्था कर सकती है।

(4) प्रत्येक किशोर को, जिसे माता-पिता या संरक्षक के प्रभार के अन्तर्गत नहीं रखा जाता है और संप्रेक्षण गृह भेजा जाता है, प्रारम्भ में संप्रेक्षण गृह की स्वागत इकाई में आरम्भिक जांचो, देख-रेख और उसके आयु समूह के अनुसार किशोरों के लिए वगीकरण के लिए, जैसे सात से बारह वर्ष, बारह से सोलह वर्ष और सोलह से अठारह वर्ष, संप्रेक्षण गृह में आगे रखने के लिए शारीरिक और मानसिक स्तर और कारित अपराध की डिग्री पर आवश्यक विचार करते हुए रखा जयेगा।

Observation Home

Address:Dilia Marcha Road

Near Zila School

Contact Details

DISTRICT CHILD PROTECTION UNIT,
VIKASH BHAWAN,Chaibasa,
West Singhbhum,
Jharkhand

Email:dcpucbsa@gmail.com
Website: www.dcpucbsa.co.in

Get App

and Download Here